उपसर्गाः

User Rating: 0 / 5

Rating Star BlankRating Star BlankRating Star BlankRating Star BlankRating Star Blank
 

धातोः उप समीपे स्वभावनिश्चया इति उपसर्गाः । प्रायः 21 उपसर्गाः इति प्रसिद्धाः । ते यथा -

  1. अति - अतिचरति

  2. अधि - अधिगच्छति

  3. अनु - अनुगच्छति, अनुकरोति

  4. अप - अपनयति, अपकरोति

  5. अभि - अभिगच्छति, अभिज्ञायते

  6. अव - अवमन्वते, अवगच्छति

  7. आङ् - आगच्छति,आदिशति

  8. उत्(उद्) - उच्चारयति, उदयते

  9. उप - उपैति, उपस्कुरुते

  10. दुर् - दुरयते

  11. दुस् - दुश्चरति

  12. नि - निबद्नाति, निवर्तते

  13. निर् - निर्दिशति, निर्गच्छति

  14. निस् - निस्तम्बते 1

  15. परा - पराभवति, परायते

  16. परि - पर्युपासते, परिपूरयति

  17. प्र - प्रभवति, प्रवज्रति

  18. प्रति -प्रत्येति. प्रतिगच्छति

  19. वि - विजानाति, विहरति

  20. सम् - सम्भवति, सङ्गच्छति

  21. सु - सुद्ध्यति

भगवती के ५१ प्रमुख शक्तिपीठ...
Virendra Tiwari

॥ ॐ दुं दर्गायॆ नम: ॥
॥ भगवती के ५१ प्रमुख शक्तिपीठ ॥
**********

1. कि [ ... ]

अधिकम् पठतु
चंडी देवी मंदिर, चंडीगढ़, पंचकुला ‍‍...
Virendra Tiwari

चंडी देवी मंदिर, चंडीगढ़, पंचकुला

#इसीमंदिरकेनामपररखागया [ ... ]

अधिकम् पठतु
पितृपक्ष की हकीकत
Virendra Tiwari

#जो_पितृपक्ष को दिखावा कहते हैं उनके लिए। हमारे #पितर और हम [ ... ]

अधिकम् पठतु
संघ शाखा लगाने की पद्धति...
Virendra Tiwari

🙏गुरु पुर्णिमा महोत्सव🙏
२७/०७/२०१८/- शुक्रवार
------------------------------- [ ... ]

अधिकम् पठतु
महाभारत के युद्ध में भोजन प्रबंधन...
Virendra Tiwari

*🔥।। महाभारत के युद्ध में भोजन प्रबंधन।।🔥*

*महाभारत को हम  [ ... ]

अधिकम् पठतु
राम रक्षा स्त्रोत को पढकर रह सकते हैं भयमुक्त...
Virendra Tiwari

राम रक्षा स्त्रोत को ग्यारह बार एक बार में पढ़ लिया जाए तो  [ ... ]

अधिकम् पठतु