about

हमारे समूह में आप भी जुडकर देववाणी व देश का समुचित विकास व विश्वगुरू के लोकोक्ती सत्य कर अपना ज्ञान संसार में बांट कर आप गुरू व भारत को विश्व गुरू बनाने में सहयोग करे हम आपकी विद्या को सादर सम्मान के साथ जन-जन तक पहुचानें में मद्द करेंगें ।आप अपना कोई भी लेख ई-मेल द्वारा ही भेजिये व आपकी इच्छानुसार आप अपनी फोटो व पूरा पता भेजकर अपना नाम भी प्रकाशित करवा सकते है ।
यह बेबसाइट संस्कृत भाषा के संगणकीय विकास हेतु बनाई गई है इसका नामकरण देववाणी इसीलिये रखा गया है


नोट- शिर्फ हिंदी और संस्कृत दस्तावेज ही मान्य होंगे व किसी भी गैरकानूनी कंटेट रखवाने पर आप पर कार्यवाही की जा सकती है ।इसके लिये हम व हमारा ग्रुप जिम्मेदार नही होगा अतः आपसे विनम्र निवेदन है की इस बात को ध्यान में रखें ।



यदि आप अपनी विडियो व संस्कृत किताब हमारे माध्यम से इस साइट पर बेचना चाहते होतो संपर्क करे १ साल तक बिना किसी शुल्क के ये सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी और आपका दस्तावेज पूरी संभावित सुरक्षा के साथ यंहा रखी जायेगी ।
देवनागरी ब्राह्मी लिपि परिवर्तक...
Virendra Tiwari

देवनागरी ब्राह्मी लिपि परिवर्तक function convert_to_Devanagari() { var a [ ... ]

अधिकम् पठतु
तिङन्त निर्माणक
Virendra Tiwari

$(function() { var availableTags = ['aMsa','ahi!','aka!','akzU!','aga!','aNka','aki!','aNga',' [ ... ]

अधिकम् पठतु
प्रत्यय निर्माणक
Virendra Tiwari

सवर्ण निर्माणक देववाणी - याति स्वयं प्रख्यार्पितग [ ... ]

अधिकम् पठतु
संधि निर्माणक
Virendra Tiwari

संधि निर्माणक देववाणी - याति स्वयं प्रख्यार्पितग [ ... ]

अधिकम् पठतु
धातु रूप निर्माणक देववाणी...
Virendra Tiwari

धातु रूप निर्माणक देववाणी - याति स्वय [ ... ]

अधिकम् पठतु
भगवती के ५१ प्रमुख शक्तिपीठ...
Virendra Tiwari

॥ ॐ दुं दर्गायॆ नम: ॥
॥ भगवती के ५१ प्रमुख शक्तिपीठ ॥
**********

1. कि [ ... ]

अधिकम् पठतु
अन्य लेख